मुख्य पृष्ठ पर वापिस जाये
कोरोना ने इंसान को सच का आईना दिखाया, क्या हम सुधरे ? * हिंदुस्तानी है, इतिहास गवाह है हम मुसीबत से घबराते नही है, हरा देते है * राजस्थानी भाषा के संरक्षण में कारगर साबित होगा कैलेंडर- धीरज श्रीवास्तव * मुख्यमंत्री गहलोत ने प्रदेशवासियों से अपील की * भाजपा ने कांग्रेस सरकार के खिलाफ ब्लैक पेपर जारी किया * मैं मौत के मूंह में , लगा इतिहास दोहराया जा रहा है * क्या हमारी भी कोई जिम्मेदारी बनती है ? * अपने और परिवार के बचाव के लिए वैक्सीन लगवाइए, गाइडलाइन की पालना कीजिए * कपासन विधायक प्रत्याशी आनंदी राम खटीक के सुपुत्र विवान चावला की प्रथम पुण्यतिथि पर कपासन विधानसभा क्षेत्र सहित चित्तौड़गढ़,बेगू, बड़ीसादड़ी और निम्बाहेड़ा में भी श्रद्धा सुमन अर्पित कर दी श्रद्धांजलि * कौन डर रहा है वसुंधरा राजे से *
हिंदुस्तानी है, इतिहास गवाह है हम मुसीबत से घबराते नही है, हरा देते है
हिंदुस्तानी है, इतिहास गवाह है हम मुसीबत से घबराते नही है, हरा देते है

(अनिल सक्सेना/ ललकार)

आजकल अखबार और इलेक्ट्राॅनिक मीडिया कोरोना की सच्ची खबरें दिखा रहें है , सच दिखाना और छापना हमारा कर्तव्य है। देखा यह जा रहा है कि कई लोग इन खबरों के कारण डर भी रहे है। हम जांच, बैड की कमी , दवा की उपलब्धता की खबरों से घबरा रहंे है। दिन-प्रतिदिन मौत के बढ़ते आंकड़े और संक्रमितों की बढ़ती संख्या हमारी चिंता और तनाव का कारण बन रहा है और इस कारण से कुछ लोगों के स्वास्थ्य पर भी प्रतिकूल असर पड़ रहा है। अस्पतालों में अत्यधिक आवाजाही और भीड़ के कारण कोविड संक्रमण और अधिक फैलने का खतरा बढ़ सकता है।

चुनावी रैली और आमसभाएं कोरोना संक्रमण फैलाने के लिए काफी हद तक जिम्मेदार है । भले ही कांग्रेस ने भी चुनावी सभाएं की हो लेकिन राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की तारीफ करनी ही पड़ेगी, जिन्होने दो दिन पहले कहा कि एक तरफ तो हम पब्लिक को कोविड प्रोटोकाॅल फाॅलो करने के लिए कहतें है और दूसरी तरफ चुनावों मेें लाखों लोगों की भीड़ की रैलियां और रोड शो होते रहें है।

प्रदेश की जनता के लिए मुख्यमंत्री जी ने चिरंजीवी योजना भी शुरू की, जिसके तहत अन्य बीमारियों के साथ कोरोना का भी पांच लाख तक का बीमा शामिल किया गया है। जनता के लिए यह एक अच्छी योजना है, राजस्थान की जनता से आग्रह है कि 30 अपे्रल तक इस योजना के लिए रजिस्ट्रेशन कर लाभ उठाएं ।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उनकी केन्द्र सरकार भी कोरोना को हराने के लिए अपनी तरफ से अच्छा प्रबंधन कर रही है। वैक्सीन जरूर लगवाएं क्यों कि चिकित्सकों का मानना है कि वैक्सीन लगाने से हम जिंदा रहेगें, भले ही हमारी ‘लापरवाही‘ से कोरोना हो जाए ।

यह सब तो ठीक है लेकिन अगर किसी कारण से कोरोना हो भी गया है तो घबराएं नही , आशावादी बने रहे , चिकित्सकों के मार्गदर्शन में इलाज जारी रखें, ‘विल पावर‘ मजबूत करें । विल पावर अर्थात इच्छा शक्ति का चमत्कार कोरोना को पूरी तरह खत्म कर देगा, यह तय है।

जीने की जबरदस्त इच्छा शक्ति रखिए क्यों कि आपकी ‘सोच‘ को ‘सच‘ में बदलने की शक्ति का नाम ही ‘विल पावर‘ है। यह भी ध्यान रखिए कि ‘विल पावर‘ सभी में होता है बस इसे जागृत करने की जरूरत है। हम हिंदुस्तानी है और इतिहास गवाह है कि हिंदुस्तानी किसी भी मुसीबत से घबराते नही है , हम इस कोरोना महामारी नामक दुश्मन को भी हरा कर ही दम लेगें, यह प्रण ले लीजिए ।

केन्द्र सरकार हो या राज्य सरकार सभी चाहते है कि ‘हम‘ सुरक्षित रहें , इसके लिए सरकारें अपनी तरफ से काम भी कर रही है । हमें भी सकारात्मक रूप से सरकार की गाइडलाइन का सख्ती से पालन कर अपनी, अपने परिवार की और समाज की रक्षा का बीड़ा उठाना है और इसके लिए सबसे ज्यादा जरूरी है कि कोरोना से घबराएं नही, कोविड गाइडलाइन का पालन करें, अपना ‘विल पावर‘ मजबूत बनाए रखें और वैक्सीन जरूर लगवाएं । ‘जय हिंद, जय राजस्थान‘

Share News on