मुख्य पृष्ठ पर वापिस जाये
अचंभित रह गया मैं, वकील के अंतिम संस्कार की कहानी * पत्रकारिता की पाठशाला ‘वीर सक्सेना‘ को समर्पित रहेगी फोरम की परिचर्चा, आपको कभी भूल नही पाएंगे भाईसाहब * राजस्थान में मध्यावधि चुनाव हो सकते हैं - पूनिया * राहुल गांधी का राजस्थान दौरा , ट्रेक्टर रैली, महापंचायत और मंदिरों में किए दर्शन * प्रतापगढ़ में बाईपास निर्माण कार्य होगा शीघ्र प्रारंभ-सांसद जोशी * औद्योगिक इकाईयां सीएसआर की राशि स्थानीय क्षेत्र में खर्च करें: आक्या * गहलोत सरकार दो वर्ष के कार्यकाल में हर मोर्चे पर रही विफल - आक्या * मीडिया का गिरता स्तर, जिम्मेदार कौन ? चिंतन जरूरी * चित्तौड़ जिले में भाजपा की हार के लिए सामूहिक जिम्मेदारी - भाजपा जिला अध्यक्ष * पोलिटिकल आइडियोलाॅजी कुछ भी हो लेकिन पत्रकारिता पर हावी क्यों ? *
औद्योगिक इकाईयां सीएसआर की राशि स्थानीय क्षेत्र में खर्च करें: आक्या
औद्योगिक इकाईयां सीएसआर की राशि स्थानीय क्षेत्र में खर्च करें: आक्या

चित्तौड़गढ़ (ललकार): चित्तौड़गढ़ विधायक चन्द्रभान सिंह आक्या ने उद्योग इकाईयों के द्वारा सीएसआर के अन्तर्गत जारी राशि को स्थानीय क्षेत्रों के विकास में खर्च करने की बात सदन में रखी।

विधायक प्रवक्ता गिरीश दीक्षित ने बताया कि विधानसभा कार्यवाही में प्रश्नकाल के दौरान तारांकित प्रश्न के माध्यम से उद्योग मंत्रालय से क्षेत्रों में स्थापित औद्योगिक इकाइयों द्वारा सीएसआर फंड की राशि को अन्यत्र स्थानों पर एवं राज्य से बाहर खर्च करने पर विरोध जताया साथ ही विधायक चंद्रभान सिंह आक्या ने कहा कि इन औद्योगिक इकाइयों से क्षेत्र का वातावरण प्रदूषित हो रहा हैए भूजल स्तर गिरता जा रहा हैए नदियों का जल बहुत अधिक प्रदूषित हो रहा हैं। वायु प्रदूषण से आसपास के क्षेत्रों में कई बीमारियां फैल रही है एवं साथ ही कृषि भूमि भी बंजर हो चुकी है। औद्योगिक क्षेत्रों में आसपास की जनता कई तरह की समस्याओं से त्रस्त है इसके बावजूद भी औद्योगिक इकाइयों द्वारा सी एस आर की राशि स्थानीय क्षेत्रों के कल्याण के लिए खर्च नहीं की जाकर अन्य राज्यों में खर्च की जा रही है। औद्योगिक इकाइयों द्वारा सीएसआर फंड की राशि को सिर्फ कागजों में ही दर्शाया जा रहा है जबकि धरातल पर कोई भी काम स्थानीय क्षेत्रों में नहीं किए जा रहे हैं।

विधायक आक्या ने औद्योगिक इकाइयों में स्थानीय व्यक्तियों के रोजगार की बात को उठाते हुए सरकार से मांग की है कि इस तरह का प्रावधान क्या सरकार लागू करेगी जिसमें औद्योगिक इकाइयों में स्थानीय व्यक्तियों को रोजगार में प्राथमिकता मिले साथ ही विधायक ने इन औद्योगिक इकाइयों के सीएसआर के लिए एक कमेटी गठन करने का भी प्रस्ताव सरकार को दिया है जिसमें स्थानीय विधायकों को प्रतिनिधित्व दिया जाए ताकि सीएसआर का पैसा स्थानीय क्षेत्र में विकास कार्य एवं अन्य सामाजिक सरोकार के लिए खर्च हो सके।

Share News on