मुख्य पृष्ठ पर वापिस जाये
अचंभित रह गया मैं, वकील के अंतिम संस्कार की कहानी * पत्रकारिता की पाठशाला ‘वीर सक्सेना‘ को समर्पित रहेगी फोरम की परिचर्चा, आपको कभी भूल नही पाएंगे भाईसाहब * राजस्थान में मध्यावधि चुनाव हो सकते हैं - पूनिया * राहुल गांधी का राजस्थान दौरा , ट्रेक्टर रैली, महापंचायत और मंदिरों में किए दर्शन * प्रतापगढ़ में बाईपास निर्माण कार्य होगा शीघ्र प्रारंभ-सांसद जोशी * औद्योगिक इकाईयां सीएसआर की राशि स्थानीय क्षेत्र में खर्च करें: आक्या * गहलोत सरकार दो वर्ष के कार्यकाल में हर मोर्चे पर रही विफल - आक्या * मीडिया का गिरता स्तर, जिम्मेदार कौन ? चिंतन जरूरी * चित्तौड़ जिले में भाजपा की हार के लिए सामूहिक जिम्मेदारी - भाजपा जिला अध्यक्ष * पोलिटिकल आइडियोलाॅजी कुछ भी हो लेकिन पत्रकारिता पर हावी क्यों ? *
गहलोत सरकार दो वर्ष के कार्यकाल में हर मोर्चे पर रही विफल - आक्या
गहलोत सरकार दो वर्ष के कार्यकाल में हर मोर्चे पर रही विफल: आक्या

चित्तौडगढ ( ललकार) : चित्तौडगढ विधायक चन्द्रभान सिंह आक्या ने विधानसभा सत्र के दौरान राज्य की गहलोत सरकार पर जमकर प्रहार करते हुए सरकार के विगत दो वर्ष के कार्यकाल को गौर निराशाजनक बताया।

प्रवक्ता गिरीश दीक्षित ने बताया कि विधायक चन्द्रभान सिंह आक्या ने विधानसभा में माननीय राज्यपाल महोदय के अभिभाषण पर चर्चा करते हुए राज्य सरकार की जनविरोधी नीतियों का पुरजोर विरोध करते हुए क्षेत्र के जनता की समस्याओं से अवगत कराया। विधायक आक्या ने अपने वक्तव्य में कहा कि बिजली की बढी हुई दरों के कारण किसान व आमजन त्रस्त है। विद्युत विभाग द्वारा लगातार कृषकों एवं घरेलु कनेक्शनों पर वीसीआर भरने के साथ ही विद्युत बिलों में चार्ज के नाम कई प्रकार की राशि जोड़कर घरेलु उपभोक्ताओं, गरीब किसान एवं आमजन की आर्थिक रूप से कमर तोडने का काम कर रहीं है।

आक्या द्वारा वीसीआर को 5 से 10 प्रतिशत राशि में ही समायोजित कर राहत प्रदान करने की बात रखी। सरकार द्वारा सड़क निर्माण से संबंधित कार्यों में पूर्व में पूर्ण किये जा चुके कार्यों का भुगतान निर्माण ठेकेदारों को अभी तक प्राप्त नहीं हुआ है जिसके कारण ठेकेदारों को आर्थिक समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्र की सड़कों की हालत मरम्मत के अभाव में बहुत खराब हो रही है। साथ ही सरकार द्वारा नई सड़कों के निर्माण हेतु स्वीकृतियां नहीं दी जा रही है जिससे नवीन कार्य प्रारंभ नहीं हो पा रहे है। सरकार द्वारा सड़क निर्माण के क्षेत्र में आ रही बाधाओं को तुरन्त निवारण करके आमजन के साथ ही निर्माण ठेकेदारों को राहत प्रदान करानी चाहिये। राज्य की कानुन व्यवस्था पर चिंता जताते हुए विधायक आक्या ने कहा कि प्रदेश में दलीत अत्याचार, बलात्कार, हत्या, डकैती जैसे गंभीर अपराधों में तेजी से बढोतरी हुई है। क्षेत्र के नागरिकों में भय व्याप्त हो गया है जिससे उनका घर से निकलना भी दूभर हो गया है। चोरी एवं चैन स्नेचिंग की वारदाते दिनों दिन बढती जा रही है, अपराधियों में पुलिस प्रशासन का कोई खौफ नहीं रहा है। प्रदेश में कानुन व्यवस्था बिगडने से भूमाफीया, खनन माफीया, बजरी माफीया, अवैध वसूली जैसे आपराधिक तत्वों की दिनों दिन बढोतरी होती जा रही है, साथ ही इन माफीयांओं को संरक्षण मिलने के कारण इनके हौसले इतने बुलंद हो चुके है कि इनके द्वारा आपराधिक कार्यों को अंजाम देने में भी किसी प्रकार का भय नहीं है। सरकार को प्रदेश की कानुन व्यवस्था की ओर गंभीरता से ध्यान देने की आवश्यकता है। ग्रामीण विकास हेतु सरकार द्वारा ग्राम पंचायतों को मिलने वाली राशि भी अभी तक प्राप्त नहीं हुई जिससे पंचायतों में विकास के कार्य ठप्प पडे है।

उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा पंचायतों को किश्तों को जारी करने का आश्वासन लगातार दिया जा रहा है परन्तु अभी तक पंचायतों के खातों में कोई भी राशि जारी नहीं की गई है। सरकार को अविलम्ब पंचायतों की राशि जारी करनी चाहिये। सरकार द्वारा क्षेत्र के किसानों से गेहूं की खरीदी भी पुरी नहीं हो पाई जिस कारण किसानों को अपने गेहूं बाजार में बहुत ही कम दाम पर बेचने को विवश होना पड़ा। चिकीत्सा क्षेत्र में भी हालात बहुत चिंताजनक है क्षेत्र के जिला चिकित्सालय में चिकित्सकों, नर्सिंग कर्मियों के कई पद काफी समय से रिक्त पडे है साथ ही चिकित्सालय में सफाई एवं अन्य व्यवस्थायें भी चरमरा गई है। सरकार को चिकित्सा व्यवस्था को सुचारू करने हेतु गंभीरता से प्रयास करने होंगे। सम्पूर्ण कर्जमाफी के वादे को पुरा नही करके राज्य के सहकारी बैंकों के माध्यम से आंशीक कर्जमाफी करवाई गई जिसका भुगतान भी सरकार द्वारा बैंकों को अभी तक नहीं किया गया है जिसके कारण राज्य के सहकारी बैंकों की हालत बहुत विकट होकर बैंक डुबने की कगार पर पहुंच गये है। सरकार द्वारा सहकारी बैंकों को अतिशीघ्र कर्जमाफी की राशि का भुगतान किया जावें। विधायक आक्या ने सदन को अवगत कराया कि विधायक मद से होने वाले विकास कार्यों की अनुशंषाओं की स्वीकृतियों प्राप्त होने में काफी समय लगता है जिसके कारण क्षेत्र में कार्य समय पर पूर्ण नहीं हो पाता है। सरकार को इस ओर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिये ताकि विकास कार्य हेतु जारी की गई अनुशंषाओं के कार्य उचित समय पर पूर्ण हो सके।

Share News on