मुख्य पृष्ठ पर वापिस जाये
लाॅकडाउन से उपजी बेरोजगारी को दूर करने का प्रयास करें , राजनीति तो होती रहेगी * मीडिया और सत्ता पक्ष * मुख्यमंत्री के निर्णयों से भ्रस्ट अधिकारियों पर गाज गिरना तय * भाजपा प्रदेश अध्यक्ष पूनिया ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर चौगान स्टेडियम का नाम भाजपा नेता स्वर्गीय भंवरलाल शर्मा के नाम करने की मांग की * राजस्थान मीडिया एक्शन फोरम प्रत्येक संभाग में करेगा ‘पत्रकार परिचर्चा‘ * राजस्थान मीडिया एक्शन फोरम प्रत्येक संभाग में करेगा ‘पत्रकार परिचर्चा‘ * सहज और सरल व्यक्तित्व के प्रभावशाली व्यक्तित्व मोहन प्रकाश जी भाईसाहब ने दिल्ली की यादें ताजा की * ललकार के बेबाक कलम को एक घण्टे में लाखो पाठको ने पढ़ा * क्या राजस्थान में किसी भी संभाग से फोन नही उठाते भाजपा प्रदेशाध्यक्ष पूनिया ? * क्या इंसान की जान से ज्यादा राजनीति जरूरी है ? *
क्या राजस्थान में किसी भी संभाग से फोन नही उठाते भाजपा प्रदेशाध्यक्ष पूनिया ?
राजस्थान में किसी भी संभाग से फोन नही उठाते भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया, व्यस्त है संगठन को मजबूत करने में

(अनिल सक्सेना/ललकार)

राजस्थान श्रमजीवी पत्रकार संघ के प्रदेश अध्यक्ष और जयपुर के वरिष्ठ पत्रकार हरीश गुप्ता बताते है कि गुरूवार को अलग -अलग समय पर तीन बार भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया को मोबाइल लगाने पर भी कोई जवाब नही मिला । वे बताते है कि दिल्ली, जयपुर और चिेत्तौड़गढ़ से प्रकाशित राजस्थान के सबसे पुराने साप्ताहिक अखबार ‘ललकार‘ के द्वारा प्रदेश में चलाए जा रहे राजनीतिक अभियान के तहत कांग्रेस सरकार के द्वारा अभी तक किये जा रहे कार्यो के बारें में जानकारी लेने के लिए उन्होने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष पूनिया को मोबाइल लगाया था । गुप्ता बताते है कि आश्चर्यजनक बात यह है कि अभी तो भाजपा की राजस्थान में सरकार ही नही तब भाजपा प्रदेश अध्यक्ष फोन नही उठाते और जब सरकार आ जाएगी तो आमजन का पता नही क्या होगा ।

जयपुर के वरिष्ठ पत्रकार जे.एन.जैमन ने भी भाजपा प्रदेश अध्यक्ष पूनिया को फोन कर जानकारी चाही लेकिन उनका कोई जवाब नही मिला तो उन्होने मैसेज कर बताया कि ललकार अखबार के लिए मैं समाचार भेजना चाह रहा हूं कि कांग्रेस सरकार के दो वर्ष के कार्यकाल पर आपके क्या विचार है।

नसीराबाद अजमेर के वरिष्ठ पत्रकार अशोक लोढा ने भी पूनिया के मोबाइल पर बात करने का प्रयास किया लेकिन जवाब नही मिलने पर उन्होने पूनिया को मैसेज किया कि मै ललकार अखबार का अजमेर ब्यूरो चीफ हूं, मैने कांग्रेस सरकार के दो साल होने पर आपकी टिप्पणी के लिए तीन बार काॅल किया लेकिन जवाब नही मिला ।

इसी तरह भरतपुर से विवेक सिंह , उदयपुर से शकुंतला सरूपरिया, कोटा से गौरव चतुर्वेदी , जोधपुर से घनश्याम डी रामावत और बीकानेर से के.के.सिंह ने मोबाइल कर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया से कांग्रेस सरकार के अभी तक के कार्यकाल के बारें में उनके विचार जानने चाहे तो भी उनसे मोबाइल पर बात नही हो पाई। आश्चर्यजनक बात यह है कि उनके बैसिक फोन पर भी सूचना देकर बात करनी चाही और अटेंडंेट को फोन पर जानकारी देने के बाद भी ललकार अखबार के सातो संभागों के ब्यूरो चीफ और दूसरे वरिष्ठ पत्रकार पूनिया से बात नही कर पाए । भाजपा युवा मोर्चा से जुड़े चर्चित युवा नेता शाश्वत सक्सेना बताते है कि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया हर समय भाजपा संगठन को मजबूत करने में लगे रहते है और हम सभी भाजपा कार्यकर्ताओं से सीधे जुड़े हुए है।

सवाल यह है कि जब राजस्थान में भाजपा की सरकार नही है तब भी भाजपा प्रदेश अध्यक्ष से संभाग के वरिष्ठ पत्रकारों से बात नही हो पा रही है तो आमजन की क्या बिसात है ? अब तो भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ही बताए कि वे राजस्थान में अपने खास के फोन के अलावा किसी का फोन नही उठाते तो उसका कारण क्या है ? क्या एक कमरे से ही राजस्थान के भाजपा संगठन को मजबूत करने में लगे है पूनिया ? ( Since 1949 ‘ललकार‘ समाचार पत्र)

Share News on