मुख्य पृष्ठ पर वापिस जाये
लाॅकडाउन से उपजी बेरोजगारी को दूर करने का प्रयास करें , राजनीति तो होती रहेगी * मीडिया और सत्ता पक्ष * मुख्यमंत्री के निर्णयों से भ्रस्ट अधिकारियों पर गाज गिरना तय * भाजपा प्रदेश अध्यक्ष पूनिया ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर चौगान स्टेडियम का नाम भाजपा नेता स्वर्गीय भंवरलाल शर्मा के नाम करने की मांग की * राजस्थान मीडिया एक्शन फोरम प्रत्येक संभाग में करेगा ‘पत्रकार परिचर्चा‘ * राजस्थान मीडिया एक्शन फोरम प्रत्येक संभाग में करेगा ‘पत्रकार परिचर्चा‘ * सहज और सरल व्यक्तित्व के प्रभावशाली व्यक्तित्व मोहन प्रकाश जी भाईसाहब ने दिल्ली की यादें ताजा की * ललकार के बेबाक कलम को एक घण्टे में लाखो पाठको ने पढ़ा * क्या राजस्थान में किसी भी संभाग से फोन नही उठाते भाजपा प्रदेशाध्यक्ष पूनिया ? * क्या इंसान की जान से ज्यादा राजनीति जरूरी है ? *
चित्तौड़ भाजपा में चंद्रभान सबसे आगे , कारण कई
चित्तौड़ भाजपा में चन्द्रभान सबसे आगे, कारण कई

(अनिल सक्सेना/ललकार) <

रविवार को चित्तौड़गढ़ विधायक चन्द्रभान सिंह आक्या के द्वारा आयोजित चित्तौड़गढ़ विधानसभा क्षेत्र के नवनिर्वाचित जिला परिषद एवं चित्तौड़ पंचायत समिति सदस्यों का अभिनन्दन एंव कार्यकर्ताओं का आभार कार्यक्रम को देखकर विधायक जी की रणनीति और कार्यकर्ताओं के उत्साहवर्धन करने के कार्य की दाद देने से, मैं पीछे नही रह सकता ।

कुछ सालों पहले भदेसर क्षेत्र में ही पहचान रखने वाले भाजपा नेता चन्द्रभान सिंह आक्या ने धीरे-धीरे चित्तौड़ भाजपा पर अपना वर्चस्व बना विधानसभा क्षेत्र में एक नई भाजपा का गठन कर दिया है। अपने लोगों को राजनीति में आगे बढ़ाने का मामला हो या राजनीतिक दुश्मनों को चारो खाने चित्त करने वाला मामला हो, सबसे आगे रहते है चन्द्रभान सिंह ।

मुझे उनकी एक बात बहुत पंसद है, वो भगवान की प्रति पूरी तरह आस्था रख लगातार पूजा-पाठ करते और कराते रहते है और साधु-संतों का ख्याल रखना उनकी दिनचर्या में शामिल है । कांग्रेस की सरकार होने के बाद, आज भी उनके घर में कार्यकर्ताओं और आम लोगों की भीड़ लगी रहती है, अब आप ही सोचिये कि जब सरकार ही नही है तो आमजन की भीड़ उनके घर में क्यों ? सबसे बड़ी बात यह है कि वो अपनों के लिए लड़ना जानते है।

मैंने कई ऐसे लोगों को उनके आस-पास देखा जिनका कोई जनाधार नही था और ना ही उनमें कोई संगठनात्मक गुण थे फिर भी वे चन्द्रभान सिंह आक्या के समर्थक होने की एकमात्र खूबी के कारण नगर में उच्च पदों पर आसीन रहे। पत्रकार होने के नाते मेरा कुछ मामलों में चन्द्रभान सिंह आक्या से मतभेद भी रहा लेकिन उनका अपनों के लिए लड़ना मेरी नजरों में उन्हे दूसरे राजनीतिक चेहरों से अलग करता रहा है।

चन्द्रभान सिंह आक्या की दूसरी खासियत यह है कि वे दूसरे कुछ नेताओं जैसी बातें नही करते , उनके समक्ष कोई भी व्यक्ति अपनी समस्या लेकर जाता है तो वो उसी समय संबधित को फोन कर समस्या को हल करने में विश्वास करते है और कोई काम नही हो सकता है तो उस व्यक्ति के सामने ही मना भी कर देते है। किसी भी नेता के समर्थकों में बढ़ोत्तरी तभी संभव है, जब नेता अपने समर्थकों को आगे बढ़ाए और साथ ही समर्थकों के काम भी कराए एवं कार्यकर्ताओं को मजबूत करे । अच्छी बात यह है कि यह सभी खूबियां चित्तौड़ विधायक चन्द्रभान सिंह आक्या में है और इसी कारण सांसद सी.पी.जोशी को छोड़ दिया जाए तो चित्तौड़ विधानसभा क्षेत्र के शक्तिशाली भाजपाईयों नेताओं में एक नम्बर से दस नम्बर तक सिर्फ चन्द्रभान सिंह आक्या ही बने हुए है। (Since 1949 ललकार समाचार पत्र)

Share News on